Saturday, January 28, 2017

एकबार फिर राम वाण के निशाने पर हैं भारतीय जनगण। नोटबंदी को इतना भारी जनसमर्थन है तो नोटबंदी को ही मुद्दा बनाकर यूपी जीतकर दिखायें! जिन्हें संविधान,कायदा कानून की कोई परवाह नहीं है ,वे संवैधानिक तरीके से बनाएंगे राम मंदिर,समझ लीजिये कि आगे क्या अंजाम वाला है! पलाश विश्वास



एकबार फिर राम वाण के निशाने पर हैं भारतीय जनगण।
नोटबंदी को इतना भारी जनसमर्थन है तो नोटबंदी को ही मुद्दा बनाकर यूपी जीतकर दिखायें!
जिन्हें संविधान,कायदा कानून की कोई परवाह नहीं है ,वे संवैधानिक तरीके से बनाएंगे राम मंदिर,समझ लीजिये कि आगे क्या अंजाम वाला है!

पलाश विश्वास
एकबार फिर राम वाण के निशाने पर हैं भारतीय जनगण।
नोटबंदी को इतना भारी जनसमर्थन है तो नोटबंदी को ही मुद्दा बनाकर यूपी जीतकर दिखायें!मजे की बात तो यह है कि सूत्रवार संघी घोषणापत्र में नोटबंदी की उपलभ्दियों या जडिजिटल इंडिया के कारपोरेट कार्यकर्म को किसी सूत्र में पिरोकर जनादेश जांचने के छप्पन इंच सीना का दम नहीं दिखा है।
फिर रामभरोसे हैं संघ परिवार।
छत्तीस इंच का सीना और मजबूत कंधे पर भरोसा नहीं है संघ परिवार को।
शिवसेना के बाद यूपी में महंत अवैद्यनाथ की बजरंगी सेना के केसरिया अश्वमेध अभियान से अलग हो जाने के बाद एक झटके से संघ परिवार हिंदुत्व एजंडे को गले लगा रही है,ऐसा समझना गलत होगा।
नोटबंदी के बाद रिजर्व बैंक अब वादा कर रहा है कि फरवरी के अंत तक हालात सामान्य होंगे और नकदी की हदबंदी खत्म होगी।पहली फरवरी को बजट पेश करने का दांव भी पलट गया है क्योंकि पांच राज्यों के लिए नोटों की वर्षा पर रोक लग गयी है।
केशव मौर्य ने राम मंदिर की चर्चा सबसे पहले पूर्वी उत्तर प्रदेश में पांव तले जमीन खिसकते महसूस करके कर दी तो अब शाह सिपाहसालार की हवा खराब है।उत्तर प्रदेश चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को कई तरह के विरोधों का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ वाराणसी दक्षिण से सात बार से विधायक रहे श्याम देव राय चौधरी को टिकट नहीं दिए जाने से परेशान उनके समर्थकों ने हंगामा कर दिया है, जिसे मनाने को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य को जाना पड़ा तो दूसरी ओर पूर्वांचल में योगी आदित्यनाथ का संगठन हिंदू युवा वाहिनी ने भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। हिंदू युवा वाहिनी ने तो अपने प्रत्याशी भी घोषित करना शुरू कर दिया है और अब तक 6 उम्मीदवारों की घोषणा कर चुका है।
पंजाब में दाल गलती नजर नहीं आ रही है और फतह के लिए उत्तराखंड के सिवाय खास कोई दिलासा नहीं है।ऐसे आलम में यूपी में वोटर पटखनी कहीं न दे दें,इस दहशत में विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ने का दावा हवा हवाई है और रामरथ निकालने की तैयारी है।
विकास रथ रामरथ में तब्दील है।  डिजिटल कैशलैश इंडिया के तिलिस्म में गांवों देहात के अपढ़  अधपढ़ वोटर अपने तबाह खेत खलिहान और कारोबार काम धंधे को भूलने वाले नहीं है ,यह हकीकत समझ में आने का बाद एकबार फिर राम वाण के निशाने पर हैं भारतीय जनगण।
नोटबंदी की कामयाबी को लेकर मीडिया और संघ परिवार बल्ले बल्ले हैं और दस दिगंत सर्वनाश के माहौल में अर्थव्यवस्था पटरी से उतर जाने के बावजूद दावा है कि आम जनता और समूची उत्पादन प्रणाली तहस नहस हो जाने के बावजूद बहुत खुश है।
अगर ऐसा है तो संघ परिवार पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में नोटबंदी को मुद्दा बनाकर मैदान में उतरने से डर क्यों रही रहा है?
वाशिंगटन में ग्लोबल हिंदुत्व के नये ईश्वर के तुगलकी फरमान से संघ परिवार को राम मंदिर निर्माण का एजंडा अचानक याद आया है क्योंकि मुसलामानों को अमेरिका जाने से रोकने के हुक्मनामे पर ट्रंप महाराज के दस्तखत के बाद उसपर अमल भी शुरु हो गया।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सात मुस्लिम देशों के नागरिकों के देश में प्रवेश पर प्रतिबंध के आदेश पर हस्ताक्षर कर दिया है। ये देश यमन, सोमालिया, इराक, ईरान, सीरिया, सूडान, लीबिया हैं। राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद अपने पहले पेंटागन दौरे में ट्रंप ने इस शासकीय आदेश पर हस्ताक्षर किए। हस्ताक्षर करने के बाद ट्रंप ने कहा, "मैं चरमपंथी इस्लामी आतंकियों को अमेरिका से बाहर रखने के लिए सघन जांच के नए नियम स्थापित कर रहा हूं। हम उन्हें यहां देखना नहीं चाहते।"
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के देश की सीमाओं को अस्थाई रूप से चार महीने के लिए शरणार्थियों के लिए बंद करने के आदेश पर हस्ताक्षर करने के बाद मिस्र की राजधानी काहिरा में इराक़ और यमन के कई लोगों को अमरीका की उड़ान पर जाने से रोक दिया गया है. हालाँकि इन लोगों के पास कथित तौर पर सही वीज़ा दस्तावेज़ थे। इधर, न्यूयॉर्क के जॉन एफ़ कैनेडी हवाई अड्डे पर दो इराक़ी आप्रवासियों को हिरासत में ले लिया गया है। इनमें से एक अपनी पत्नी और बेटे से मिलने पहुंचे थे जो पहले ही अमरीका में बस चुके हैं।
अमेरिकी मीडिया और महिलाओं के अविराम विरोध के बाद आज गुगल और फेसबुक की तरफ से इस नस्ली उन्माद के खिलाफ बयान जारी कर दिया गया है।भारत में मुसलमानों की भारी आबादी के बावजूद भारत की हिंदुत्ववादी सरकार ने इस अमानवीय कृत्य की निंदा नहीं की है और नई दिल्ली व्हाइट हाउस के न्यौते केइंतजार में पलक पांवड़े बिछाये हुए हैं। 
डोनाल्ड ट्रंप के शरणार्थी नीति में बदलाव करने से फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने उनकी आलोचना की है। फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रवासियों को कम करने के फैसले से खासा नाराज हैं। उन्होंने ट्रंप के फैसले का विरोध करते हुए कहा है कि अमेरिका प्रवासियों का देश है और इस पर गर्व होना चाहिए।
बड़े मियां तो बड़े मियां,छोटे मियां  छलांगे दस कोस।
अमेरिका जब मुसलमानों को ऐसे सबक सिखा सकता है तो ग्लोबल इसारों के मुताबिक मुसलमानों से बदला लेने का दांव बहुसंख्यहिंदू वोटरों को वानरसेना में तब्दील करने में बारी मददगार हो सकता है।
इसी के मद्दे नजर यूपी के चुनावी दंगल में आज बीजेपी ने भी अपना दांव चल दिया है। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर पार्टी का घोषणापत्र जारी किया बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में राम मंदिर से लेकर फ्री लैपटॉप, महिला सुरक्षा, युवाओं को रोजगार और किसानों की सुविधा से जुड़े 14 बड़े वादे किए। 
मीडिया के मुताबिक भाजपा के चुनाव घोषणा पत्र के चौदह सूत्र में पहला सूत्र यही है कि संवैधानिक तरीके से बनाएंगे राम मंदिर।यूपी विधानसभा चुनाव जीतने के लिए कमर कस चुकी बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में राम मंदिर का जिक्र किया। सिपाहसालार अमित शाह ने कहा है कि अगर यूपी में बीजेपी की सरकार बनीं तो संवैधानिक तरीके से राम मंदिर बनाएंगे। शाह ने कहा, ''जहां तक राम मंदिर का मामला है तो प्रदेश में बीजेपी की नयी सरकार भी संवैधानिक तरीकों से जल्द से जल्द राम मंदिर बनवाने के लिये प्रयत्नशील रहेगी।''
अगला सूत्र भी मुसलमानों को निशाना बांधकर हिंदुओं के ध्रूवीकरण के मकसद से है।तीन तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं की राय।सिपाहसालार ने फरमाया ने कहा, ''तीन तलाक के मुद्दे पर प्रदेश भर की मुस्लिम महिलाओं की राय लेकर उनके अधिकारों के रक्षा के लिये प्रदेश सरकार पक्षकार बनकर सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखेगी।''
अखिलेश के जबाव में फ्री लैपटॉप और एक साल तक फ्री इंटरनेट देने का दांव।
उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के चुनावी वादे की तरह बीजेपी ने भी लैपटॉप वितरण की घोषणा करते हुए कहा कि बीजेपी की सरकार बनने पर लैपटॉप पाने वालों को हर महीने एक जीबी इंटरनेट भी मुफ्त दिया जाएगा।
पश्चिम उत्र पर्देश के किसानों को ललचाने के लिए गन्ना किसानों को तुरंत भुगतान का वायदा भी किया गया है।यह भुगतान नकदी में होना है कि किसानों को कैशलैस डिजिटल ऐप्पस पर भुगतान मिलेगा,इसका खुलासा नहीं किया गया है।बहरहाल घोषणा पत्र जारी करते हुए अमित शाह ने कहा कि अगर यूपी में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनीं तो गन्ना किसानों को चीनी मील के बाहर ही गन्ना के मूल्य का चेक दे दिया जाएग।. जो उस दिन से 14 दिन बाद की तारीख का होगा।
किसानों से कर्ज पर ब्याज नहीं,ऐसा बी वायदा है।
घोषणा पत्र में किसानों को लेकर एक और बड़ा वादा ।प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने पर सभी लघु और सीमान्त किसानों का किसी भी बैंक से लिया गया सम्पूर्ण फसली कर्ज माफ किया जाएगा। किसानों से कर्ज पर ब्याज नहीं लिया जाएगा और कृषि मजदूरों को 2 लाख रुपए का बीमा दिया जाएगा।
 हर घर में 24 घंटे बिजली का लालीपाप
इतना ही नहीं सरकार बनने पर बीजेपी ने पांच साल में हर घर में 24 घंटे बिजली पहुंचाने, गरीबों को 100 यूनिट बिजली, 3 रूपये प्रति यूनिट की दर से देने और हर गांव को बसों के जरिए तहसील सेंटर से जोड़ने का वादा भी किया।
अगला सूत्र भी हिंदू मतदाताओं को निशाना साधकर है कि बंद होंगे जानवरों के अवैध कत्लखाने।अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने पर सूबे में जानवरों के यांत्रिक कत्लखानों को बंद किया जाएगा।
बेरोजगारी की वजह से पलायन रोकने का रामवाण भी दिलचस्प है। जिलाधिकारी को माना जाएगा पलायन के लिये जिम्मेदार।पलायन के मुद्दे अमित शाह ने कहा कि बीजेपी की सरकार बनने पर संबंधित जिलाधिकारी को पलायन के लिये जिम्मेदार माना जाएगा।एक समिति बनायी जाएगी, जो पलायन ना होना सुनिश्चित करेगी। पार्टी पलायन को लेकर श्वेत-पत्र भी जारी करेगी।
कानून व्यवस्था सुधारने का भी वायदा है।15 मिनट के अंदर घटनास्थल पर पहुंचे पुलिस।
अमित शाह ने कहा कि कानून-व्यवस्था को मजबूत करने के लिये प्रदेश की मौजूदा सरकार द्वारा शुरू की गयी डायल-100 सेवा को हाईटेक करके यह सुनिश्चित किया जाएगा कि पुलिस 15 मिनट के अंदर घटनास्थल पर पहुंचे।
महिला सुरक्षा के लिए टास्क फोर्स
बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर बड़ा ऐलान किया। अमित शाह ने कहा कि यूपी में बीजेपी की सरकार बनीं तो महिलाओं के लिए 100 फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाएंगे।
लव जिहाद की तर्ज पर 'एंटी रोमियो दल' का गठन
बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि, यूपी में उनकी पार्टी की सरकार बनने पर महिलाओं खासकर कॉलेज जाने वाली छात्राओं से छेड़छाड़ रोकने के लिये 'एंटी रोमियो दल' गठित किये जाएंगे, जो स्कूलों के इर्द-गिर्द सक्रिय रहेंगे।यह एंटी रोमियो दल भी जाहिर है बजरंगी दल होने वाला है।
माफियाओं पर लगाम के लिए अलग-अलग टास्क फोर्स
अमित शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी की सरकार बनी तो भूमाफिया, खनन माफिया पर लगाम के लिये अलग-अलग टास्क फोर्स गठित की जाएंगी। अपराधियों पर फौरन ही कार्रवाई की जाएगी औऱ 45 दिन के अंदर अपराधी जेल में जाएंगे।
बुंदेखलण्ड विकास बोर्ड का गठन
बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी की सरकार बनने पर बुंदेलखण्ड के विकास के लिये मुख्यमंत्री कार्यालय की निगरानी में बुंदेखलण्ड विकास बोर्ड गठित किया जाएगा। ऐसा ही बोर्ड पूर्वांचल के लिये भी बनाया जाएगा।
लड़कियों को ग्रेजुएशन तक मुफ्त शिक्षा
इसके साथ ही बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में लड़कियों को ग्रेजुएशन तक मुफ्त शिक्षा, कॉलेज में फ्री WiFi और हर युवा को रोजगार देने का वादा भी किया।

--